क्या राहुल गांधी ने मसूूद अज़हर को ‘मसूद अज़हर जी’कहकर सम्मान दिया?

बीजेपी-कांग्रेस में घमासान, रविशंकर प्रसाद का हाफिज़ सईद को 'जी' कहने का पुराना मामला उठा

0
51
दिल्ली में सोमवार को राहुल गांधी पार्टी के बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए

राहुल गांधी के भाषण की एक क्लिप सोशल मीडिया पर ज़बरदस्त वायरल है। इस क्लिप में कांग्रेस अध्यक्ष, जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन के मुखिया और पुलवामा अटैक के मास्टर माइंड मसूद अज़हर को मसूद अज़हर जी’ कहते हुए सुनाई देते हैं। बीजेपी ने राहुल गांधी की 6 सेकेंड की एक क्लिप ट्विटर पर पोस्ट की। साथ ही संदेश लिखा ”देश के 44 वीर जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना के लिए राहुल गांधी के मन में इतना सम्मान”

केंद्रीय मंत्री स्म्रति ईरानी ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा ”राहुल गांधी और पाकिस्तान के बीच एक चीज़ कॉमन है औऱ वो है आतंकवादियों से उनका प्रेम”

सोशल मीडिया के साथ साथ मेन स्ट्रीम मीडिया में भी ये क्लिप छाई रही।

मसूद अज़हर जी, मसूद अज़हर, राहुल गांधी

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा ”ये हो क्या गया है कांग्रेस पार्टी को पहले दिग्विजय जी ने हाफिज़ सईद साहिब और ओसामा जी कहा अब राहुल गांधी मसूद अज़हर जी कह रहे हैं”

लेकिन रविशंकर इस बयान पर वो खुद ही ट्रोल हो गये क्योकि साल 2018 में  उनकी ज़ुबान भी कुछ ऐसी ही फिसली थी जिसमें उन्होने हाफिज़ सईद को ”हाफिज़ सईद जी” कह दिया था।

रविशंकर प्रसाद के इस बयान को अमर उजाला, आजतक सहित काफी अखबारों और चैनलों ने चलाया था।

ऐसा ही एक बयान लोगों ने कांग्रेस के समर्थन में मुरली मनोहर जोशी का पोस्ट किया जिसमें वो हाफिज़ सईद को श्री हाफिज़ सईद कहते सुनाई देते हैं।

मुरली मनोहर जोशी के इस बयान पर भी काफी प्रतिक्रियाएं हुईं थीं। अखबारों ने भी इस खबर को प्रकाशित किया था। कांग्रेस मे दिग्विजय सिंह , सुशील कुमार शिंदे भी आतंकवादियों के लिए सम्मान सूचक शब्दों का प्रयोग करके काफी आलोचना झेल चुके हैं।

इसे भी पढ़िए

कश्मीर पर मोहम्मद रफी की आवाज़ में ‘जौहर इन कश्मीर’ फिल्म का गाना क्या बैन हुआ था?

क्या मिकी माउस की उत्पत्ति का आधार नस्लवाद था?


सच्चाई क्या है ?

राहुल गांधी सोमवार को दिल्ली में पार्टी के बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उसी कार्यक्रम का ये वीडियो है।अपने भाषण में वो एक जगह कहते हैं ”आपको याद होगा जब इनकी पिछली सरकार थी तो एयरक्राफ्ट में मसूद अज़हर ‘जी’ के साथ बैठकर, जो आज नेशनल सिक्युरिटी एडवाइज़र हैं अजीत डोवल मसूद अजहर को जाकर कांधार में हवाले करके आ गए थे।”

इस भाषण की क्लिप में राहुल गांधी ने तीन बार मसूद अज़हर का नाम लेकर बीजेपी पर हमला बोला कि उनकी सरकार ने ही उसे छोड़ा था। एक बार राहुल गांधी के मुंह से ”मसूद अज़हर जी” निकलता है और दो बार मसूद अज़हर।

साफ है कि राहुल गांधी के मुंह से ‘मसूद अज़हर जी’ शब्द निकला। कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस पर बीजेपी औऱ मीडिया के एक सेक्शन पर पलटवार किया गया। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजे वाला ने कहा ”राहुलजी के ‘मसूद’ कटाक्ष को जान-बूझ कर ना समझने वाले भाजपाईयों व चुनिंदा गोदी मीडिया साथियों से 2 सवाल-: 1. क्या NSA श्री डोभाल आतंकवादी मसूद अज़हर को कंधार जा रिहा कर नहीं आए थे? 2. क्या मोदी जी ने पाक की ISI को पठानकोट आतंकवादी हमले की जाँच करने नहीं बुलाया?”


निष्कर्ष

दावा नंबर -1 – राहुल गांधी ने मसूद अज़हर को ‘मसूद अज़हर जी’ कहा

दावा नंबर-2- राहुल गांधी के मन में मसूद अज़हर के लिेए सम्मान

दावा करने वाले– बीजेपी, सोशल मीडिया , मेनस्ट्रीम मीडिया

पहले दावे का सच– राहुल गांधी ने मसूद अज़हर जी बोला, ये दावा सच है

दूसरे दावे का सच– किसी नाम के आगे ‘जी’ शब्द का प्रयोग सम्मान दर्शाता है। औऱ आदतन लोग सार्वजनिक रूप से बोलते समय ‘जी’ शब्द का प्रयोग करते हैं। लेकिन यहां पर ये कहना कि राहुल गांधी ने जानबूझकर मसूद अज़हर को सम्मान देने के लिए ‘जी’ शब्द का प्रयोग किया ये सुनिश्चित नहीं किया जा सकता। बीजेपी और कांग्रेस के कई नेताओं के मुंह से पूर्व में आतंकवादियों के लिेए ‘जी’,साहब, श्री जैसे शब्दों का प्रयोग हुआ है। इसके पीछे आतंकवादियों को सम्मान देने की मंशा है इसे मानना सही नहीं होगा। इसलिए इस दावे की पुष्टि india check नहीं करता है।

अगर आपको किसी दावे के फैक्ट चेक पर एतराज है तो आप हमें अपने एतराज़ भेजिए। हम अपनी गल्तियों को मानने के लिए प्रतिबद्द हैं। हम आपके उठाए गए सवालों पर एक प्रक्रिया के तहत विचार करेंगे। और यदि आपके एतराज़ सही हुए तो हम उन्हे प्रकाशित भी करेंगे। हमें indiacheck1@gmail.com , info@indiacheck.in पर ईमेल करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here