राष्ट्रवाद और प्रधानमंत्री मोदी की आड़ में सेक्स परोसकर धंधा कर रहे हैं फेसबुक पेज

राष्ट्रवाद औऱ प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर ये कैसा कंटेंट?

0
69
राष्ट्रवाद के नाम पर फेसबुक पेज कर रहें हैं अश्लील कंटेट परोसने का धंधा

”एक रात मालकिन से प्यार”, ”आजकल लड़का लड़की ऐसे प्यार करते हैं”. ”अय्याश अमीर औरत……”ये कैप्शन हैं कुछ वीडियोज़ के जो आप की नज़रों से भी गुज़रे होंगे। औऱ सबसे खास बात है कि ये किसी adult साइट पर नहीं बल्कि राष्ट्रवाद, देशभक्ति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करने वाले फेसबुक पेजों पर पोस्ट किए जाते हैं।

राष्ट्रवाद के नाम पर ये कंटेंट
राष्ट्रवादी पेज पर अश्लीलता

ये कुछ वीडियो के स्क्रीन शॉट हैं जो we support nationalism नामके फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए हैं।पेज का यूज़र नेम है @countrysabsepehle . इस पेज के 10 लाख से भी ज्यादा फालोअर्स हैं। इन वीडियोज़ को आप यहां,यहां,यहां और यहां देख सकते हैं। पेज के अबाउट सेक्शन में लिखा है सभी राष्ट्रवादी इस पेज से जुड़ें। पेज पर राष्ट्रवाद, बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी के समर्थन में पोस्ट शेयर किए जाते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन
सेना की शौर्यगाथा

we support nationalism फेसबुक पेज

इस पेज पर किसी व्यक्ति के बारे में कोई जानकारी नहीं है जिसने इस पेज को बनाया  हो। हां पेज पर एडमिन के रूप में hindutva.info है। और इसी नाम से वेबसाइट भी है। पेज पर contact us का एक बटन है जिसे क्लिक करने पर ये वेबसाइट खुलती है। यानि यही वेबसाइट ही इस पेज को चलाती है।

हमने whois.com के ज़रिए इस वेबसाइट का पता करने की कोशिश की लेकिन वहां भी केवल इसके रजिस्ट्रेशन की तारीख पता चलती है। रजिस्टर्ड कराने वाले के contact detail में एरिजोना,यूएस लिखा है। आमतौर पर यहां फोन नंबर औऱ नाम भी रहता है लेकिन ये जानकारी कुछ पैसे खर्च करके proxy domain लेकर छिपाई जा सकती है।

hindutva.info वेबसाइट

वेबसाइट इस साल 26 जनवरी के बाद से अपडेट नहीं की गई। नेहा कमल औऱ विनीता वर्मा नाम से कई लेख इसमें प्रकाशित हुए हैं। हमने इन दोनों नामो के बारे में रिसर्च किया तो नेहा कमल के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिली लेकिन विनीता वर्मा का नाम इस वेबसाइट के सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर के रुप में कई जगह दर्ज था। मई में एक लेख राजेश जिंदल के नाम से भी हमें मिला। राजेश जिंदल के बारे में जानने के लिए जब हमने फिर गूगल सर्च का सहारा लिया तो हमें 2017 में altnews.in की एक इंवेस्टिगेटिव रिपोर्ट मिली जिसमें hindutva.info औऱ राजेश जिंदल के बारे में काफी जानकारी मिली। आल्ट न्यूज़ ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि राजेश जिंदल ही इस वेबसाइट का मालिक है। इस रिपोर्ट में वेबसाइट द्धारा फैलाई जा रही झूठी खबरों को और जिंदल के सोशल मीडिया के साम्राज्य का खुलासा किया गया था। शायद इसी रिपोर्ट के बाद जिंदल ने अपना linkdin प्रोफाइल डिलीट कर दिया। और  hindutva.info के मालिक के रूप में सारी जानकारी हटा ली। औऱ वेबसाइट पर फेक न्यूज़ के कंटेट भी हटा लिए। हालांकि उनका फेसबुक पेज एक्टिव है।

इस वेबसाइट से जुड़े फेसबुक पेजों की जानकारी के लिए हमने गूगल द्धारा सर्च के लिेए बताए गए एक तरीके को अपनाया। इसमें सबसे पहले वेबसाइट का नाम इनवर्टेड कॉमा में उसके बाद inurl:about site:facebook.com लिखकर गूगल में सर्च कराते हैं। परिणाम में इस वेबसाइट से जुड़े दर्जनों पेज दिखाई दिये।

इसे भी पढ़िये

क्या चीन ने कहा कि भभारत का विपक्ष मसूद अज़हर को आतंकी नहीं मानता तो हम क्यों मानें?

कुछ और फेसबुक पेज

सारे पेज हम आपको नहीं दिखा पा रहे हैं। हम दो पेज की जानकारी यहां औऱ दे रहे हैं। इनके नाम हैं ”प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक” जिसका यूज़र नेम @indiapmbest औऱ ”we support ram rajya” जिसका यूज़र नेम @deshseva है । पहले वाले के 8 लाख से ज़्यादा फॉलोवर हैं जबकि दूसरे के पांच लाख से अधिक। दोनों का एडमिन hindutva.info है। राष्ट्रवाद, धर्म, बीजेपी औऱ प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी से जुड़ी पोस्ट ये शेयर करता है। लेकिन इन पर भी सेक्स और दो अर्थ वाले कैपशन के पोस्ट शेयर किया जाते हैं। ”क्या वर्जिन होना इतना ज़रूरी है…” ,”सुहागरात के दिन ऐसे गंदे विचार आते हैं कि….” ,”पत्नी गई किसी औऱ के साथ लेकिन पकड़ी गई तो क्या हुआ।”

प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन वाला पेज

इस तरह के सारे पोस्ट ”we support nationalism”,”प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक” औऱ ”we support ram rajya” में कॉमन हैं। तीनों फेसबुक पेजों पर इन्हे आप देख सकते हैं। ”hindutva.info” वेबसाइट ऐसे दर्जनों फेसबुक पेज चलाती है। अगर इन तीन की बात करें तो इनके फॉलोअर की संख्या 24 लाख के आसपास है। सभी पेजों की गिनती की जाए तो अंदाज़ा लगाना मुश्किल है कि वाकई कितने लोग फालो करते हैं।

ऐसा कंटेट परोसने का मकसद

इस तरह के कंटेट से इन पेजों को लाइक करने औऱ फॉलो करने वालों की संख्या में ज़बरदस्त इज़ाफा होता है। सेक्स संबंधी पोस्ट पर तो 20 से 25 लाख व्यूज़ भी आते हैं। औऱ इस पेज के ट्रैफिक को वेबसाइट पर डाइवर्ट कर दिया जाता है। जिससे वेबसाइट की रैकिंग बढ़ती है औऱ मॉनिटरी काफी फायदा होता है। अगर वेबसाइट नहीं भी है तो इन फेसबुक पेजों की फालोवर्स की संख्या के आधार पर उनकी कीमत तय होती है। इस बारे में हम अगली कड़ी में खुलासा करेंगे कि कैसे फेसबुक पेज खरीदे और बेचे जाते हैं।

निष्कर्ष

देशभक्ति, राष्ट्रवाद जैसी बड़ी बड़ी बातों की आड़ में इन पेजों को चलाने वाले आम जनता को गुमराह कर रहे हैं। इनका मकसद लोगों को अपने पेज पर लाना है इसके लिए वो मनगढ़ंत, झूठी खबरें औऱ सेक्स संबंधी कंटेट परोसने का काम कर रहे हैं। राष्ट्रवाद, देशभक्ति, धर्म,बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी का इस्तेमाल ये सिर्फ अपने निजी फायदे के लिए करते हैं। हमने सोशल मीडिया में खासकर फेसबुक पेजों पर एक सीरीज़ शुरू की है ये उसकी पहली कड़ी थी।इस रिपोर्ट में हमने इन पेजों पर परोसे जा रहे कंटेंट की बात की है।इनके द्धारा फैलाई जा रही फेक न्यूज़ की जांच पडताल अगली कड़ी में करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here