कर्नाटक चुनाव का पुराना वीडियो प्रधानमंत्री की चेन्नई यात्रा के संदर्भ में वायरल

0
56


जिनको लगता है कि दक्षिण भारत में कोई केसरिया लहर नहीं है उनको ये वीडियो देखकर मिर्ची लगेगी

इस संदेश को #southindiafornamo #tnwelcomesmodi के हैशटैग के साथ ट्वीट किया गया। इसके साथ एक वीडियो भी अटैच किया गया जो बीजेपी की रैली का था। इस वीडियो ट्वीट को 15000 से ज्यादा लोग देख चुके हैं औऱ 2000 से ज्यादा रिट्वीट हो चुके हैं।

 वीडियो को अलग-अलग संदेशों के साथ भी ट्वीट किया गया। उनको भी काफी लोगों ने देखा औऱ शेयर किया।

दरअसल रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्रप्रदेश के गुंटूर और तमिलनाडू के तिरुपुर में एक-एक जनसभा को संबोंधित किया। जिसे लेकर सोशल मीडिया पर काफी गहमागहमी रही। प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान उनके विऱोध और सम्रर्थन दोनों में में अलग अलग तरह के
http:// हैशटैग ट्रेंड करते रहे।


वीडियो की सच्चाई

वीडियो टॉप एंगल से शूट किया गया था। गाड़ियों के नंबर औऱ कोई ऐसे बोर्ड नहीं दिख रहे थे कि ये पता लगाया जा सके कि इसकी लोकेशन क्या है। कुछ महिलाओं की आवाजें आ रही थी जो कैमरे के आसपास थीं जिससे उनकी आवाज़ साफ सुनाई दे रही थी। ज़ाहिर था कि कैमरे की लोकेशन किसी बिल्डिंग की छत पर थी। इन आवाजों से ऐसा लगता है जैसे ये कोंकड़ी भाषा बोल रहीं हैं।बीच बीच में एक महिला हिंदी में नारा लगाती है ‘मोदी जी की जय’। प्रधानमंत्री मोदी का नाम लेने से लगता है कि मोदी की रैली है। कोंकड़ी गोवा,महाराष्ट्र के दक्षिण, कर्नाटक के उत्तर औऱ केरल के कुछ क्षेत्रों में बोली जाती है। आखिरकार कुछ और रिसर्च औऱ कुछ नए कीवर्ड का इस्तेमाल करके हमने ये पता लगा ही लिया कि ये वीडियो कब का है? औऱ कहां का है? पहली बात ये कि ये मोदी की रैली नहीं है। दूसरी बात ये तमिलनाडु का वीडियो नहीं है। तीसरी बात कि ये पिछले साल अप्रैल महीने का वीडियो है। यूट्यूब पर इसी एंगल से ये वीडियो 3 मई 2018 को अपलोड किया गया है। इसे आप यहां देख सकते हैं।

ये वीडियो कर्नाटक के उडिपी ज़िले की करकला विधानसभा क्षेत्र का है। 23 अप्रेल 2018 को बीजेपी प्रत्याशी वी सुनील कुमार के नामांकन के दौरान उनके समर्थकों की ये रैली है। बाद में इस रैली को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने संबोधित किया था। कई लोकल न्यूज़ चैनलों नें इसे कवर किया था। सुनील कुमार ये चुनाव जीत गए थे।

 इस चैनल पर वीडियो का शूट अलग एंगल से है लेकिन मौका वही है।लगभग 10 महीने पुराना है ये वीडियो। जिस संदर्भ के साथ ये वीडियो वायरल किया जा रहा है वो गलत है और गुमराह करने वाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here