Fact Check:ट्रेन में सामान बेचने वाले अवधेश को नेताओं का मज़ाक बनाने पर पकड़ा गया?

रातों रात अपनी स्टइल की वजह से लोकप्रिय हो गया अवधेश

0
85
The viral truth of awadhesh, which was linked to the leaders

अवधेश दुबे का नाम पिछले दिनों काफी चर्चा में रहा। सोशल मीडिया पर भी अनोखे अंदाज से खिलौने बेचने के वीडियो खूब वायरल हुए।वो बड़े नेताओं की मिमिक्री बनाकर अपना सामान बेचते थे। लोग उनके इस अंदाज के कायल थे।

People talking on twitter

लेकिन पिछले दिनों उन्हे रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सूरत रेलवे स्टेशन पर 2 जून को ट्रेन नंबर 17204 के स्लीपर कोच में सामान बेचते हुए उन्हे पकड़ा गया। अवधेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी सहित कई बड़े नेताओं का मज़ाक उड़ाते थे। लोगों ने सोशल मीडिया पर उनकी गिरफ्तारी का आलोचना की। एक ट्विटर यूजर ने तो लिखा कि ” ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि इसी देश में चिदंबरम को तो पच्चीसों बार बेल मिल जाती है लेकिन एक आदमी जो ईमानदारी से रोज़ी-रोटी चला रहा है उसको पकड़ लिया जाता है। इस यूज़र ने उसे तुरंत छोड़ने की मांग की”

People now asking govt to release him and showing sympathy

यहां तक की मेनस्ट्रीम मीडिया में भी अवधेश की गिरफ्तारी का वजह राजनेताओं की मिमिक्री बताई।  TheIndianExpress; सहित तमाम अखबारों ने भी यही लिखा। सोशल मीडिया और मेनस्ट्रीम मीडिया पर हो रही आलोचना के बाद रेलवे पुलिस फोर्स ने एक बयान जारी किया। बयान मे कहा गया कि अवधेश को अनाधिकृत तरीके से सामान बेचने की वजह से पकड़ा गया है।

कौन हैं अवधेश दूबे?

वाराणसी से आकर अवधेश दुबे लगभग 2 साल पहले वलसाड चले गए। जीविकोपार्जन के लिए वहो खिलौने बेचने लगे। दुबे की एक पत्नी और दो बच्चे हैं।

Fact Check:अवधेश का वायरल सच, जिसे नेताओ से जोड़ा गया

कैसे बेचते थे अवधेश सामान?


मोदी को बेबी और राहुल को मनोरंजन और मुलायम को एक तकिया बताकर अवधेश इन नेताओं का मज़क बनाते थे। लोग इनकी स्टाइल पर इतने खुश हो जाते कि इका सामान तुरंत बिक जाता। अवधेश की लोकप्रियता का आलम ये हो गया कि लोग इनके साथ सेल्फी खिंचवाने लगे।

Viral Video of Awedesh Dubey-the hawker

रेलवे का स्पष्टीकरण

रेल मंत्रालय ने अपने स्पष्टीकरण में कहा कि अवधेश को राजनेताओं की मज़ाक उड़ाने की वजह से नहीं पकड़ा गया है। रेलवे ने अनाधिकृत तरीके से सामान बेचने वालों के खिलाफ एक अभियान चलाया था जिसमें अवधेश को नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया गया था। इसी वजह से उनको गिरफ्तार करके रेलवे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। रेलवे मजिस्ट्रेट ने अवधेश का पिछला रिकॉर्ड देखते हुए 10 दिन की जेल औऱ 3500 रुपए ज़ुर्माने की सज़ा सुनाई । रेलवे के अनुसार इससे पहले 12 बार अवधेश के खिलाफ नियमों के उल्लंघन के मामले पाए जा चुके हैं। ये भी कहा गया कि अवधेश ने कोर्ट में अनाधिकृत तरीके से सामान बेचने की बात मानी है। रेलवे ने मीडिया से ये भी गुज़ारिश की है कि जिन संगठनों ने राजनेताओं की मिमिक्री की वजह से खबर चलाई है उसे सही करके दोबारा चला दें।

निष्कर्ष
दावा-– अवधेश दूबे की गिरफ्तारी राजनेताओं की खिल्ली उड़ाकर सामान बेचने की वजह से हुई ,प
दावा करने वाले-फेसबुक,ट्विटर यूज़र ,मीडिया,news channel,न्यूज़पेपर
सच-रेलवे पुलिस का कहना है अवधेश को अनाधिकृत रुप से रेलवे की सीमा के भीतर सामान बेचने की वजह से गिरफ्तार किया गया। राजनेताओं की मिमिक्री गिरफ्तारी की वजह नहीं है।
india check इस संबंध में अकेले फैक्टचेक करने में सक्षम नही है। हम आगे इस स्टोरी को अपडेट करेंगे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here