क्या मोदी ने कहा मुसलमानों को हाथ लगाने से पहले मेरी लाश से गुज़रना होगा?

पीएम मोदी का ये बयान एक साल पहले भी हुआ था वायरल

0
141
नहीं मोदी ने नहीं कहा मुसलमानों को हाथ लगाने से पहले मेरी लाश से गुज़रना होगा? INDIACHECK-Documenting The truth
पीएम मोदी का झूठा बयान वायरल.नहीं मोदी ने नहीं कहा मुसलमानों को हाथ लगाने से पहले मेरी लाश से गुज़रना होगा?प्रधान मंत्री ने इस तरह का कोई विवादित बयान नहीं दिया

मुसलमानों पर प्रधानमंत्री मोदी का एक बयान सोशल मीडिया पर वायरल है। इस बयान में मोदी कह रहे हैं कि मुसलमानों को जो हाथ लगाएगा उसे मेरी लाश से गुज़रकर जाना होगा। ये बयान महाराष्ट्र के क्षेत्रीय न्यूज़ चैनल एबीपी माझा के स्क्रीन शॉट पर है। 10 जून को इसे फेसबुक के राहुल गांधी फैन क्लब पेज पर पोस्ट किया गया।

मुसलमानों पर पीएम मोदी के वायरल बयान का स्क्रीन शॉट(फेसबुक)
मुसलमानों पर पीएम मोदी के वायरल बयान का स्क्रीन शॉट(फेसबुक)

इसे आप यहां भी देख सकते हैं।फेसबुक के अलावा ट्विटर पर भी इसे शेयर किया जा रहा है। कुछ लोग फोटो के साथ शेयर कर रहे हैं तो कुछ सिर्फ बयान का टेक्सट पोस्ट कर रहे हैं।


सोशल मीडिया पर प्रचलित
मुसलमानों पर पीएम मोदी के वायरल बयान का स्क्रीन शॉट ( ट्विटर)
मुसलमानों पर पीएम मोदी के वायरल बयान का स्क्रीन शॉट ( ट्विटर)


इसे भी पढ़िए

सुषमा स्वराज को आंध्रप्रदेश का गवर्नर बनाए जाने का सच


मुसलमानों पर मोदी के वायरल बयान का फैक्ट चेक

वायरल पोस्ट से कुछ की-वर्डस निकालकर जब हमने फेसबुक औऱ ट्विटर पर ढूढ़ना शुरू किया तो हमें बहुत सारे पोस्ट मिले। इनमें से कुछ पोस्ट एक साल पुराने भी थे।

एक साल पहले भी वायरल हुए पीएम मोदी के  इसी बयान का फेसबुक और ट्विटर का स्क्रीन शॉट
एक साल पहले भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था पीएम मोदी का यही बयान(स्क्रीन शॉट)

यानि मोदी का ये बयान एक साल पहले भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इनमें भी एबीपी न्यूज़ की ही ही स्क्रीन का इस्तेमाल किया गया था लेकिन नाम लिखा दिखाई नहीं देता है। हमने अफनी जांच को आगे बढ़ाया और इस साल 10 जून को वायरल हुए पोस्ट को गौर से देखा। सबसे दिलचस्प बात ये थी कि कि मराठी चैनल की भाषा मराठी ही होती है, हिन्दी का टेक्सट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यू टयूब से हमने एबीपी माझा का वीडियो निकालकर उसका स्क्रीन शॉट बनाया फिर वायरल हुए स्क्रीन शॉट से उसकी तुलना की तो फर्क साफ पता चलता  है। ऑरिजनल स्क्रीन शॉट और वायरल स्क्रीन शॉट में काफी अंतर है। शब्दों की बनावट भी अलग है। और टेक्सट मराठी भाषा में है जैसा आपको ऊपर बताया है।

एबीपी माझा का ऑरिजनल और फोटोशॉप्ड स्क्रीन शॉट
एबीपी माझा का ऑरिजनल और फोटोशॉप्ड स्क्रीन शॉट
ABP Manjha vedio used to take screen grab and Photoshop to spread fake news

एक औऱ खास बात ये कि पोस्ट10 जून को शेयर की गई है लेकिन स्क्रीन शॉट पर समय एक साल पुराना दिखा रहा है।यानि ये स्क्रीन ग्रैब एक साल पहले निकाला गया और उस पर पीएम मोदी की तरफ से इन शब्दों को लिखकर चिपका दिया गया। | हमने गूगल सर्च,पीएम का ट्विटर हैंडिल,बीजेपी का ट्विटर हैंडल में भी इस बयान को सर्च किया लेकिन ये कहीं नहीं दिखा।


निष्कर्ष

दावा-पीएम मोदी ने कहा कि जो मुसलमानों को हाथ लगाएगा उसे मेरी लाश से गुज़रकर जाना होगा

दावा करने वाले- फेलबुक,ट्विटर यूज़र

सच- दावा झूठा है

हमारी फैक्ट चेक स्टोरी में अगर आपको कोई गलती नज़र आती है तो आप हमें ज़रूर लिखें। हम अपनी गलतियों को स्वीकार करने के लिए पूरी तरह से हमेशा तैयार रहते हैं। आप हमें info@indiacheck.in या indiacheck1@gmail.com पर मेल कर सकते हैं। हम एक प्रक्रिया के तहत जांच करेंगे औऱ गलती पाए जाने पर स्टोरी को अपडेट करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here