क्या देश का 268 टन सोना मोदी सरकार ने चुपचाप विदेश भेज दिया?

कांग्रेस समर्थित अखबार नेशनल हेराल्ड का दावा

0
86
देश के सोने का सच

देश का 268 टन सोना चोरी छिपे विदेश भेज दिया गया। ये दावा सोशल साइट्स और व्हॉटसएप के ज़रिए किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि मोदी सरकार ने सत्ता संभालते ही 2014 में 268 टन सोना विदेश भेज दिया।

सोशल मीडिया पर 268 टन सोना गिरवी रखने की खबरों का स्क्रीन शॉट
सोना चोरी छिपे बाहर भेजने की अखबारों में छपी खबर

इस खबर को कांग्रेस के आधिकारिक हैंडल से भी ट्वीट किया गया। ट्वीट में एक लिंक दिया गया है जिसमें कांग्रेस समर्थित अखबार नेशनल हेराल्ड के एक लेख का लिंक है। इस लेख को नवनीत चतुर्वेदी के साक्ष्यों के आधार पर लिखा गया है। लेख की हेडलाइन है ”क्या मोदी सरकार ने 2014 में सत्ता संभालते ही 200 टन सोना चोरी छिपे स्विटज़रलैंड भेजा?”

कौन है नवनीत चतुर्वेदी?

नवनीत चतुर्वेदी के फेस बुक प्रोफाइल के अनुसार वो खुद को एक खोजी पत्रकार बताते हैं। और साउथ दिल्ली से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। नवनीत के ब्लॉग के अनुसार मोदी सरकार ने चोरी छिपे 200 टन सोना विदेश भेज दिया है। आरटीआई जानकारी के आधार पर वो ये दावा करते हैं। वो दावा करते हैं कि जून 2011 जितना सोना आरबीआई के पास था उसमें से 268 टन 2015 की आरबीआई की बैलेंस शीट में गायब दिखाई देता है।मोदी सरकार ने ये जानकारी गुप्त रखी । खास बात है कि जिन बैलेंसशीट को नवनीत ने सोशलमीडिया पर शेयर किया है वो सभी आरबीआई की वेबसाइट पर भी देखी जा सकती हैं। ये कोई गुप्त सूचना नहीं है।

ये भी पढ़ें

क्या अमित शाह ने कहा कि मीनाक्षी लेखी को वोट ना करें?


विदेश भेजे गए सोने का सच

हमने नवनीत के दावे और आरबीआई की साइट पर 2013-14 औऱ 2014-15 की बैलेंस शीट का अध्ययन किया तो पाया कि ये गलत तरीके से गणना करने का नतीजा है। 2013-14 की आरबीआई रिपोर्ट की बात करें तो सेंट्रल बैंक के पास 557.75 मीट्रिक टन सोना था जिसमें से 265.49 मीट्रिक टन सोना असेट के रूप में इशू डिपार्टमेंट के पास था जबकि बाकी 265.49 मीट्रिक टन दूसरे असेट के रूप में बैंकिंग डिपार्टमेंट के पास था। यहां आपको बता दें कि इशू डिपार्टमेंट के पास रखा सोना कुल करेंसी नोट की वैल्यु के रुप में रखा जाता है जबकि बैंकिंग विभाग के पास रखा सोना विदेशों में रखा जाता है।

अगर 2014-15 की बैलेंसशीट की बात करें तो कुल 557.75 मीट्रिक टन में से 292.26 मीट्रिक टन इशू डिपार्टमेंट औऱ बाकी 265.49 मीट्रिक टन बैंकिंग विभाग के पास था। रुपए की कीमत के अनुसार इसकी वैल्यू घटती बढती रहती है। आप भी दोनों की बैलेंस शीट देखकर ये जानकारी देख सकते हैं।

इसके अलावा आऱबीआई ने भी इस खबर को एक प्रेस रिलीज़ जारी करके गलत बताया है।

आरबीआई की प्रेस रिलीज़
आरबीआई की प्रेस रिलीज़

निष्कर्ष

दावा-मोदी सरकार ने 2014 में देश का 268 टन सोना चोरी छिपे स्विटजरलैंड भेजा

दावा करने वाला- सोशल मीडियो यूजर, कांग्रेस ट्विटर हैंडल,

सच- ये दावा झूठा है

हमारी फैक्ट चेक स्टोरी में अगर आपको कोई गलती नज़र आती है तो आप हमें ज़रूर लिखें। हम अपनी गलतियों को स्वीकार करने के लिए पूरी तरह से हमेशा तैयार रहते हैं। आप हमें info@indiacheck.in या indiacheck1.in@gmail.com पर मेल कर सकते हैं। हम एक प्रक्रिया के तहत जांच करेंगे औऱ गलती पाए जाने पर स्टोरी को अपडेट करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here